विराट 31वीं बार मैन ऑफ द मैच बने, डेढ़ साल बाद धोनी के लगातार दो अर्धशतक

मेलबर्न. भारत ने एडिलेड में हुए दूसरे वनडे में ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से हरा दिया। इस वनडे में 104 रन की पारी खेलने वाले भारतीय कप्तान विराट कोहली मैन ऑफ द मैच चुने गए। अंतरराष्ट्रीय वनडे मुकाबलों में यह 31वां मौका है, जब वे मैन ऑफ द मैच चुने गए हैं। इस मैच में महेंद्र सिंह धोनी 55 रन बनाकर नाबाद रहे। धोनी ने पहले वनडे में भी अर्धशतकीय पारी खेली थी।

 

धोनी ने एक साल बाद विजयी रन बनाया
धोनी ने करीब डेढ़ साल बाद लगातार दो अर्धशतक लगाए। उन्होंने इससे पहले 30 जून 2017 और दो जुलाई 2017 को खेले गए वनडे में वेस्टइंडीज के खिलाफ क्रमश: 78* और 54 रन की पारी खेली थी। दोनों वनडे नार्थ साउंड में खेले गए थे। धोनी ने इस वनडे में विजयी रन लिया। उन्होंने एक साल बाद टीम के लिए विजयी रन लिया। इससे पहले धोनी ने पिछले साल एक फरवरी को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विजयी रन लिया था। उस मैच में उन्होंने कगिसो रबाडा की गेंद पर चौका लगाकर टीम इंडिया को जीत दिलाई थी।

विराट ने गांगुली, संगकारा, रिचर्ड्स की बराबरी की
विराट वनडे में सबसे ज्यादा बार मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार हासिल करने के मामले में संयुक्त रूप से चौथे स्थान पर पहुंच गए हैं। उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली, श्रीलंका के कुमार संगकारा, वेस्टइंडीज के विवियन रिचर्ड्स की बराबरी की। गांगुली, संगकारा, रिचर्ड्स ने भी अपने वनडे करियर में 31-31 बार मैन ऑफ द मैच पुरस्कार जीते थे।

 

वनडे में सचिन सबसे ज्यादा 62 बार मैन ऑफ द मैच बने
वनडे में सबसे ज्यादा पुरस्कार जीतने के मामले में सचिन तेंडुलकर शीर्ष पर हैं। वे अपने करियर में 62 बार मैन ऑफ द मैच बने। उनके बाद श्रीलंका के सनत जयसूर्या का नंबर है। जयसूर्या के नाम 48 वनडे मैन ऑफ द मैच पुरस्कार हैं। दक्षिण अफ्रीका के जैक्स कैलिस, ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग और पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी 32-32 बार मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार जीतकर संयुक्त रूप से तीसरे नंबर पर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *