पाकिस्तान ने रद्द की चीन की ‎विजली प‎रियोजना

इस्लामाबाद ।  पाकिस्तान सरकार ने चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) की एक बड़ी बिजली परियोजना को रद्द करने का ‎निर्णय ‎लिया है।  जिसे पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के कार्यकाल में आगे बढ़ाया था।  पाकिस्तानी मीडिया ‘द डॉन’ की रिपोर्ट के अनुसार पर्दे के पीछे चल रहे सरकारी अधिकारियों के साथ चर्चा से संकेत मिल रहे हैं कि पाकिस्तान ने आधिकारिक तौर पर चीन को जानकारी दे दी है कि उसे 1,320 मेगावाट वाले रहीम यार खान बिजली परियोजना में कोई दिलचस्पी नहीं है। क्यों‎कि अगले कुछ सालों के लिए पाक के पास पर्याप्त विद्युत क्षमता है।
पाक ने चीन से सीपीईसी सूची से परियोजना को औपचारिक रूप से हटाने की बात कही है। इस मामले में  एक सरकारी अधिकारी ने कहा, पिछले महीने हुई आठवीं संयुक्त समन्वय समिति (जेसीसी) की बैठक में, योजना और विकास मंत्री मखदूम खुसरो बख्तियार के नेतृत्व में एक पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल ने सीपीईसी सूची से रहीमयार खान आयातित ईंधन बिजली संयंत्र (1,320 मेगावाट) को हटाने का प्रस्ताव दिया था। परियोजना को मूल रूप से पूर्व मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ की अगुवाई में पंजाब सरकार के काएद-ए-आजम थर्मल कंपनी द्वारा आयात ‎किए गए  कोयला आधारित संयंत्र के रूप में आगे बढ़ाया गया था।  एक प्रमुख व्यवसायी ने इस परियोजना का प्रस्ताव दिया था और उसके इस परियोजना के प्रमुख प्रायोजकों में से एक होने की उम्मीद जा‎हिर की थी। बता दें कि ये चीन के लिए किसी झटके से कम नहीं है क्योंकि उसके सीपीईसी के तहत पाक में निवेश का एक बड़ा हिस्सा बिजली परियोजना के माध्यम से जुड़ा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *